यहां नोटा से कम वोट मिलने पर उम्मीदवार फिर दोबारा नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

हरियाणा में पांच नगर निगमों और दो नगरपालिकाओं के लिए आगामी 16 दिसंबर को चुनाव कराए जाएंगे तथा इनमें मतदाता ‘नोटा’ का भी इस्तेमाल कर सकेंगे। हरियाणा चुनाव आयोग द्वारा लिए गए देश में अपनी तरह के एक अनूठे फैसले के तहत इन चुनावों के दौरान अगर किसी वार्ड में सभी उम्मीदवारों के मत ‘नोटा’ के मतों से कम आए तो चुनाव रद्द होगा तथा वहां पुन: चुनाव कराया जाएगा तथा इसमें चुनाव लड़ चुके उम्मीदवार पुन: अपना नामांकन दाखिल नहीं कर सकेंगे। …तो फिर दोबारा से होगा चुनाव न्यूज एजेंसी वार्ता के अनुसार, राज्य चुनाव आयुक्त दलीप सिंह ने बताया कि इस बार के इन चुनावों में ईवीएम पर ‘नोटा’ बटन का भी प्रावधान होगा। जो मतदाता किसी भी उम्मीदवार को वोट नहीं देना चाहता है वह ‘नोटा’ बटन दबा सकता है। अगर किसी वार्ड के चुनाव परिणाम में पार्षद पद के सभी उम्मीदवारों के मत ‘नोटा’ के मतों से कम आए तो चुनाव रद्द होगा तथा नए सिरे से चुनाव कराया जाएगा तथा इसमें चुनाव लड़ चुके उम्मीदवार पुन: चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। यह नियम महापौर के प्रत्यक्ष चुनाव पर भी लागू होगा। फेक न्यूज पर भी रहेगी पैनी नजर राज्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि चुनावों के दौरान सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जाएगी। अगर किसी व्यक्ति ने फेक न्यूज या सद्भाव को बिगाड़ने वाली कोई खबर पोस्ट की तो उसके खिलाफ आयोग कानूनी कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक चुनाव में लगे किसी भी अधिकारी या कर्मचारी का तबादला नहीं किया जा सकेगा। पांच नगर निगम व दो नगरपालिकाओं के लिए होंगे चुनाव हरियाणा में पांच नगर निगमों और दो नगरपालिकाओं के लिए आगामी 16 दिसंबर को चुनाव कराए जाएंगे। राज्य चुनाव आयुक्त दलीप सिंह ने चुनावों का कार्यक्रम जारी करते हुए कहा कि ये चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से होंगे। इनमें मतदाता ‘नोटा’ का भी इस्तेमाल कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश के इतिहास में पहली बार नगर निगमों के महापौर का सीधा चुनाव होगा। इससे पूर्व निर्वाचित पार्षदों द्वारा ही महापौर का चुनाव किया जाता था। यहां कराए जाएंगे चुनाव दलीप सिंह के अनुसार ये चुनाव हिसार, रोहतक, यमुनानगर, पानीपत और करनाल नगर निगमों तथा जाखल मंडी (फतेहाबाद) और पुंडरी (कैथल) नगरपालिकाओं के लिए कराए जा रहे हैं तथा इन क्षेत्रों में आज से आचार संहिता लागू हो गई है। एक से छह दिसंबर तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे तथा सात दिसंबर को इनकी जांच होगी। आठ दिसंबर को नामांकन वापस लिए जा सकेंगे तथा इसके बाद मैदान में बचे शेष उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाएंगे। मतदान 16 दिसंबर को सुबह 7.30 बजे से लेकर शाम 4.30 बजे तक होगा। अठारह दिसंबर को अगर जरूरत पड़ी तो पुनर्मतदान होगा। 19 दिसंबर को सुबह आठ बजे से मतों की गिनती शुरू होगी तथा उसी दिन परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। 136 वार्डों में 1292 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे उन्होंने बताया कि कुल 136 वार्डों में 1292 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। इन चुनावों में कुल 14,01,157 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे जिनमें 7,46,126 पुरूष तथा 6,55,021 महिला तथा दस ट्रांसजेंडर मतदाता शामिल हैं। करनाल नगर निगम का महापौर पद महिला तथा पानीपत नगर निगम के महापौर का पद पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित है। इसी प्रकार, जाखल मंडी (फतेहाबाद) और पुंडरी(कैथल) नगरपालिका के प्रधान का पद महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। नगर निगम हिसार, रोहतक और यमुनानगर के महापौर के पद अनारक्षित हैं।

Leave a Reply