मतदाता में मतभेद करवाते नेता ?

विश्व के सभी देशों में भारत ही मात्र एक ऐसा देश हैं, जो अपनी संस्क्रती व् भाईचारे के साथ यहा के नागरिक को स्वतंत्र जीवन जीने का अधिकार देता हैं, हमारे भारत देश में सभी धर्म व् जाति के लोग आपसी भाईचारे के साथ वर्षो से रहते आये हैं, लेकिन देश की सभी राजनीती पार्टियो ने देश को तोड़ने का काम किया हैं, चाहे वह राममंदिर, जम्मू-कश्मीर, और आरक्षण या जातिवाद जेसे मुद्दे ही क्यों ना हो राजनीती पार्टिया अपने स्वार्थ के लिए देश को दुनिया के सामने झुकाया हैं, और देश को अंदर से खोखला करने का काम किया हैं, सभी पार्टिया अपने-अपने वोट बैंक को बढ़ावा देने के लिए देश को आरक्षण व् जातिवाद जेसे घटिया मुद्दों पर बाँटने का काम किया हैं, लोकतंत्र में राज्य के चुनावों में प्रत्येक पार्टी ने अपने पार्टी प्रत्यासी को चुनावी मैदान में उतारने से पहले जातिवाद समीकरण का सहारा ले के समाज में मतदाता को जातिवाद से तोड़ने का काम किया हैं, जिससे चलते समाज में हर दिन आपसी मतभेद व् हिंसक घटनाये होती हैं, देश व् समाज के नवनिर्माण में रूकावट पैदा कर देश की आर्थिक स्थिति को कमजोर करने का काम किया हैं ! आओं हम सब मिलकर चले एक साथ, देश के ठेकेदारों से करेंगे बात ‘’ हम सब का अब एक ही नारा , भ्रष्ट नेताओं से मिले छुटकारा ‘’

Leave a Reply